News

Different Subjects Different Shayari

Different Shayari 3

तुझसे अच्छे तो जख्म हैं मेरे ।
उतनी ही तकलीफ देते हैं जितनी बर्दास्त कर सकूँ

क्या बात है, बड़े चुपचाप से बैठे हो.
कोई बात दिल पे लगी है या दिल कही लगा बैठे हो

खरीददार तो बहोत मिले इस दिल के
ए दोस्त
बेच देता अगर इसमें तेरी याद न होती

वक़्त के फैसले कभी गलत नही होते.
बस सही साबित होने में वक़्त लगता है.

बस ताल्लुक़ का इन्तक़ाल हुआ !
ज़िन्दा दोनों तरफ मोहब्बत है !

loveheartshayari
the authorloveheartshayari
Love Heart Shayari
Amazing Hindi Shayari Website. Lots Of Hindi Shayari With HD Images. All Shayaris – Find more specific Shayaris according to the topics of your need as this page provides a complete list of all the Shayari categories we have on Shayari Network.

Leave a Reply